गायत्री मेनन

गायत्री मेनन ने एनआईडी से प्रॉडक्ट डिज़ाइन का अध्ययन किया और इसे करने से पहले इन्होंने इंजीनियरिंग में स्नातक स्तर की पढ़ाई पूरी की। इन्होंने बच्चों के लिए रचनात्मकता और सार्वभौमिक डिज़ाइन के क्षेत्र में दो साल के लिए काम किया। 2001 में, इंडस्ट्रियल डिज़ाइन अनुशासन में एक संकाय के रूप में गायत्री एनआईडी में शामिल हुई। गायत्री डिज़ाइन अवलोकन, डिज़ाइन तरीकों, रंग और फार्म, खेल सिद्धांत, रचनात्मकता और नवीनता, सामग्री और तंत्र, शिल्प प्रलेखन, और डिज़ाइन अनुसंधान विधियों में पाठ्यक्रम लेती हैं। वह छात्रों को टॉय डिज़ाइन, गेम डिज़ाइन, डिज़ाइन फॉर स्पेशल नीड्स, और सिस्टम्स थिंकिंग ऐंड डिज़ाइन के क्षेत्रों में गाइड करती हैं। गायत्री ने एक डिज़ाइनर और सह सलाहकार के रूप में काम करने के अलावा सामाजिक रूप से विभिन्न औद्योगिक और सार्वजनिक क्षेत्र की पहल की और उद्यमों संस्था के निर्माण और शिल्प विरासत को कायम रखने  के लिए  प्रासंगिक परियोजनाओं पर ध्यान केंद्रित करने का नेतृत्व किया है। इन्होंने उद्योगों के लिए इन क्षेत्रों मे कई कार्यशालाएं आयोजित की हैं जैसे — रचनात्मकता, डिज़ाइन रणनीति और अवसर मानचित्रण डिज़ाइन, और डिज़ाइन परिचय में: मुद्दों और तरीकों। इसके अलावा यह पाठ्यचर्या विकास, विद्यार्थी मूल्यांकन और प्रवेश में देख-रेख, और उद्योग के साथ बातचीत के दौरान शामिल होने की जिम्मेदारियां भी लेती हैं। इन्होंने 'बच्चों के कमरे के लिए एशियन पेंट्स प्रॉजेक्ट, यूएनआइडीओ द्वारा प्रायोजित भारतीय खिलौना उद्योग की क्षमता विकास के लिए डिज़ाइन हस्तक्षेप, और मध्य प्रदेश के क्राफ्ट क्लस्टर प्रोजेक्ट के लिए डिज़ाइन हस्तक्षेप संभावनाएं, और  केरल क्राफ्ट-क्लस्टर के लिए भौगोलिक संकेत' ऐसी परियोजनाओं की अध्यक्षता की है। इन्होंने अपना प्रपत्र आइसीसीपी सम्मेलन जर्मनी में, आइटीआरए सम्मेलन ग्रीस में, मैक्सिको में एमएक्स डिज़ाइन सम्मेलन तथा डीईटीएम सम्मेलन में प्रस्तुत किया है। इन्होंने राष्ट्रीय डिज़ाइन और रचनात्मकता के लिए स्कूलों में डिज़ाइन शिक्षा के साथ-साथ बच्चों के पुनर्वास के लिए आयोजित खिलौने-"पहली एशियाई यूनेस्को रचनात्मकता कार्यशाला" शुरू करने के लिए ब्रिटिश काउंसिल के साथ शिविर का आयोजन किया। इन्हें अंतरराष्ट्रीय रचनात्मकता कार्यशालाओं के लिए इटली, ब्रिटेन और जर्मनी भर में आमंत्रित किया गया है; इन्होंने दक्षिण अफ्रीका और कनाडा के डिज़ाइन स्कूलों में पढ़ाया है। गायत्री ''ऑपर्चुनिटी मैपिंग इन डिज़ाइन'' के क्षेत्र में अनुसंधान करने में लगी हैं।

gayatri[at]nid [dot]edu

उत्तरदायित्व

  • सह संयोजक, फाउंडेशन प्रोग्राम
  • गतिविधि उपाध्यक्ष, इंडस्ट्री एवं ऑनलाइन कार्यक्रम
  • उप-प्रमुख, डिज़ाइन टीचर प्रोग्राम
© 2016 NATIONAL INSTITUTE OF DESIGN