एल. सी. उजावने

उद्योग में 3 दशकों से अधिक काम करने बाद एल सी उजावने वर्ष 2006 में एनआईडी में शामिल हुए। वे इंटीरियर डिज़ाइन, फर्नीचर डिज़ाइन, फर्नीचर प्रौद्योगिकी, फोल्डिंग फर्नीचर, कार्यशाला प्रौद्योगिकी और सामग्री प्रक्रियाओं से संबंधित कक्षाएं लेते हैं। उजावने जी, जिन्होंने रॉयल दानिश अकादमी ऑफ फाइन आर्ट्स  कोपेनहेगन, डेनमार्क, से फर्नीचर डिज़ाइन में अड्वान्स्ड स्नातकोत्तर कोर्स किया है, को काष्ठ, काष्ठ शिल्प और डिज़ाइन ड्राइंग में आंतरिक और फर्नीचर डिज़ाइन में रुचि है। इन्होंने सलाहकार के रूप मे इंटीरियर डिज़ाइन परियोजनाओं में दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और चेन्नई के पेटेंट कार्यालयों और नई दिल्ली में संघ लोक सेवा आयोग के कार्यालय को समन्वित किया है। 2004 में इन्होंने शिल्प विकास संस्थान, श्रीनगर जम्मू व कश्मीर में काष्ठ शिल्प डिज़ाइन की और 2006 में एक और डिज़ाइन विकास और प्रशिक्षण के लिए 'राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक', जस्दन, गुजरात में कार्यशालाएं आयोजित की।

ujawanelc[at]nid [dot]edu

© 2016 NATIONAL INSTITUTE OF DESIGN