ममता एन. राव

वर्ष 2005 में ममता एन. राव एनआईडी में शामिल हुई और एनआईडी, बैंगलुरू में अध्यापन करती हैं। वास्तुकला, रचनात्मकता, मल्टीमीडिया और वेब आधारित इंटरफेस के विकास जैसे क्षेत्रों में इनका होंग काँग और सिडनी और भारत में शैक्षिक और निजी संगठनों में 16 साल से अधिक का संचयी कार्य अनुभव है। वे डिज़ाइन विज्ञान (डिज़ाइन कम्प्यूटिंग) सिडनी विश्वविद्यालय, ऑस्ट्रेलिया से और योजना और वास्तुकला स्कूल, नई दिल्ली से अर्बन डिज़ाइन में मास्टर की डिग्री रखती हैं। इनके शिक्षण और रूचि क्षेत्रों में शामिल हैं: क्रियेटिव थिंकिंग, स्पेशियल पर्सेप्शन इन रीटेल एन्वाइरन्मेंट्स, यूज़र एक्सपीरियेन्स डिज़ाइन, इंटरैक्टीव मीडिया, स्पेस प्लानिंग, और इन्फर्मेशन आर्किटेक्चर. इन्होंने कई पत्रिकाओं में अपने लेखों का प्रकाशित किया है. ममता, नवम्बर 2005 में हॉंग कॉंग पोलिटेक्निक यूनिवर्सिटी के डिज़ाइन स्कूल द्वारा प्रकाशित पुस्तक क्रिएटीव टूल्स की सह-लेखक थीं. वर्ष 2010 में आईजीआई ग्लोबल द्वारा उस पुस्तक के अध्याय क्रिएटीव ऐंड विजुआलाइजेशन टूल्स इन कॉन्टेक्स्ट ऑफ डिज़ाइन इन द हैंडबुक ऑफ रिसर्च ऑन ट्रेंड्स इन प्रोडक्ट डिज़ाइन ऐंड डेवलपमेंट – टेक्नोलॉजिकल ऐंड ऑर्गानाइजेशनल पर्सपेक्टीव का प्रकाशन किया गया. वर्तमान में ममता, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग, भारत सरकार द्वारा वित्त पोषित आर्ट्स, आर्टीफैक्ट्स ऐंड आर्कीटेक्चर ऑफ बाज़ार स्ट्रीट ऑफ हम्पी 3 वर्षीय परियोजना की मुख्य अन्वेषक हैं.

mamatarao[at]nid [dot]edu

उत्तरदायित्व

  • संयोजक, इटेरैक्शन डिज़ाइन / डीडीई
© 2016 NATIONAL INSTITUTE OF DESIGN