शेखर मुखर्जी

कार्टूनिस्ट, इलस्ट्रेटर, और इकनॉमिक टाइम्स में ग्राफिक कलाकार के रूप में दो-वर्षीय कार्यकाल के बाद, शेखर मुखर्जी एनआईडी ऐनीमेशन डिज़ाइन के एक छात्र के रूप में 1992 में शामिल हुए। स्नातक स्तर की पढ़ाई के बाद, शेखर ने कम्यूनिकेशन डिज़ाइन के विभिन्न क्षेत्रों में काम किया और 2002 में संकाय के रूप में एनआईडी के ऐनिमेशन फिल्म डिज़ाइन अनुशासन में शामिल हुए। 2003 के बाद से, शेखर एनीमेशन फिल्म डिज़ाइन अनुशासन के अध्यक्ष बने और भविष्य की भारतीय ग्राफिक स्टोरीटेल्लर्स पीढ़ी के सलाहकर बने। इन्होंने एनआईडी में चित्रकथा नामक एक अंतरराष्ट्रीय छात्रों का ऐनीमेशन फिल्म समारोह का आयोजन किया; जिससे भारतीय उपमहाद्वीप से अब तक अज्ञात कहानियों को बढ़ावा देने में मदद मिली है। शेखर नियमित रूप से आनंद बाजार पत्रिका के रविवार कार्टून स्तंभ में दो हास्य स्ट्रिप्स का योगदान करते हैं जो कोलकाता से प्रकाशित अग्रणी अखबार है। मई 2009 में, इन्होंने भारत में ऐनीमेशन शिक्षा के उत्कृष्ट योगदान के लिए सीएनबीसी-ऐप्टेक पुरस्कार प्राप्त किया। एक अंतःविषय जर्नल जो सेज प्रकाशन, ब्रिटेन द्वारा प्रकाशित है, में ऐनीमेशन के संपादकीय बोर्ड में भी वे शामिल हैं। शेखर को भारत और विदेशों में आयोजित कई ऐनिमेशन फिल्म समारोहों में जूरी सदस्य और रिसोर्स पर्सन के रूप में नियमित रूप से आमंत्रित किए जाते हैं ।

sekharm[at]nid [dot]edu

© 2016 NATIONAL INSTITUTE OF DESIGN