त्रिधा गज्जर

त्रिधा गज्जर का झुकाव हमेशा शिक्षाविदों और डिज़ाइन शिक्षण की ओर रहा है। 1995 में इन्होंने बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू), वाराणसी से विज़ुअलाइज़ेशन विशेषज्ञता के साथ एप्लाइड आर्ट्स में एमएफए किया और 2001 में विज्ञापन के संदर्भ में उत्पत्ति और मुद्रण के विकास पर एप्लाइड आर्ट्स में पीएचडी की। विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) द्वारा जूनियर (जेआरएफ) और सीनियर (एसआरएफ) रिसर्च फैलोशिप इन्हें प्राप्त हुआ था। वर्ष 2004 में त्रिधा एक संकाय प्रशिक्षार्थी के रूप में एनआईडी में शामिल हुई और वर्ष 2006 में इन्हें ग्राफिक डिज़ाइन अनुशासन में एसोसिएट संकाय के रूप में शामिल किया गया। यह सक्रिय रूप से स्नातक में शिक्षण के साथ-साथ विभिन्न स्नातकोत्तर स्तर विषयों में भी शामिल रही हैं। त्रिधा रंग और संरचना, बुनियादी और उन्नत ग्राफिक डिज़ाइन और प्रिंट उत्पादन की बुनियादी बातों को सिखाती हैं और छात्रों के स्नातक और स्नातकोत्तर परियोजनाओं के माध्यम से उनका मार्गदर्शन करती हैं। इन वर्षों में, इन्होंने पैकेजिंग डिज़ाइन के क्षेत्र भी में रुचि विकसित की है। इन्हें "डिज़ाइन इनोवेशन्स मेड इन इटली", पोलीडिज़ाइन, 2008 में मिलान में साढ़े तीन -महीने के पाठ्यक्रम के लिए एनआईडी द्वारा चुना गया था। इन्होंने 2009 में यंग डिज़ाइनर्स (2010 और 2011), दीक्षांत पहचान और पर्यावरण ग्राफिक्स के रूप में कई संस्थागत परियोजनाओं की अध्यक्षता की है, वहीं एनआईडी में ग्राफिक डिज़ाइन अनुशासन के लिए पाठ्यक्रम के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका भी निभाई है। इन्होंने इस तरह के आइडेंटिटी, गुजरात इंटरनेशनल फाइनेंस टेक सिटी के लिए डिज़ाइन (जीआइएफटी), गांधीनगर के रूप में एनआईडी में विभिन्न परामर्श परियोजनाओं में अध्यक्षता और संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम (यूएनईपी) सतत संचार परियोजना-मत स्मार्ट व्यापार के लिए एनआईडी के छात्र टीम को समन्वित किया है। इन्हें नियमित रूप से दृश्य कला संकाय, बीएचयू में निर्णायक मंडल का हिस्सा बनने के लिए आमंत्रित किया गया है। एनआईडी में शामिल होने से पहले दवा विज्ञापन के क्षेत्र में तीन साल के लिए काम करने वाली त्रिधा हमेशा कहती है कि – डिज़ाइन, रचनात्मकता की अभिव्यक्ति है, इसका प्रयोग करें, पता लगाएं, आयोजन करें और इसे नैतिक जिम्मेदारी के साथ दुनिया के साथ साझा करें।

tridha[at]nid [dot]edu

उत्तरदायित्व

  • संयोजक, ग्राफिक डिज़ाइन
© 2016 NATIONAL INSTITUTE OF DESIGN